Login to your account

Username *
Password *
Remember Me

Create an account

Fields marked with an asterisk (*) are required.
Name *
Username *
Password *
Verify password *
Email *
Verify email *
Captcha *
Reload Captcha

पत्रकार के घर हुए जानलेवा हमले में नही हुई उचित कार्यवाही, घूम रहे आरोपी

-सरकार के पत्रकार सुरक्षा के लाख प्रयास विफल, पुलिस नही दिखाती सक्रियता

-पत्रकार के घर जानलेवा हमले की जानकारी लेने पहुँचे एसो. जिला अध्यक्ष

जिला अस्पताल पहुँच कर ली पूरी जानकारी, कहा कार्यवाही होगी, नहीं हुई कारवाही तो आगे बनेगी रणनीति

बीते रविवार पत्रकार के घर दर्जनों दबंगो ने किया था जानलेवा हमला, आरोपी कई चोरियो में है नामजद

रायबरेली | मिल एरिया थाना क्षेत्र के कल्लू का पुरवा निवासी पत्रकार के घर बीते रविवार नाली व कूड़ा के मामूली विवाद में विपक्षियो ने दबंगो को बुलाकर धावा बोल दिया जिसमें महिला पत्रकार के पिता गंभीर रूप से घायल हो गये। जिसमे सीएचसी0 अमावां से घायल को जिला अस्पताल रिफर कर दिया जहाँ चार दिन भर्तीकर उनका इलाज करवाया गया। इस घटना की जानकारी एसो0 के जिलाध्यक्ष को हुई तो घटना की जानकारी लेने जिला अस्पताल पहुँचे। ज्ञात हो कि ग्रामीण पत्रकार एसोसिएसन की महिला प्रभारी सपना पाल कल्लू का पुरवा निवासी के पिता पर हुए हमले में घायल पिता ओम प्रकाश पाल (पीजीआई कर्मचारी) को देखने जिला अस्पताल पहुँचे एसोसिएसन के जिलाध्यक्ष केबी0 सिंह। जिलाध्यक्ष ने हालचाल पूछकर पूरी घटना की जानकारी ली और इस घटना की निन्दा की। उन्होंने एसके0 सोनी पत्रकार एसो0 जिला महामंत्री से भी पूरी जानकारी ली, उन्होंने बताया कि पिछले 8 साल से ओम प्रकाश के घर के ऊपर बने आवास पर अपने घर के एक सदस्य के साथ निवास करते है और प्रदेश व जिला स्तर की पत्रकारिता करते है। घर के सामने खाली पड़े प्लाट में उनकी चार पहिया वाहन खड़ी होती है, वाहन आने जाने में नाली खराब होने के कारण टूट जाती है, जिसको सही भी कराया गया लेकिन सामने की महिला पड़ोसी द्वारा प्रतिदिन नशे में धुत होकर गाली देने व धमकियां देने का सिलसिला जारी रहता है जिसे नजरअंदाज कर दिया जाता है। गाड़ी के शीशे पर टमाटर मारना, गाड़ी के ऊपर या बगल में कचड़ा डाल कर प्रताड़ित किया जाता रहा। इस बात से थाने का पिछला स्टाप परिचित था जिस पर कार्यवाही भी हुई लेकिन माफी के बाद छोड़ा गया था। एक दिन पूर्व पहले धमकी फिर दूसरे दिन पत्रकार को मारने की रणनीति तैयार की गई, लेकिन मात्र 20 मिनट के अंतराल में पत्रकार के जाने के बाद ही लगभग 15  लोगो द्वारा एसके सोनी को पूछा गया लेकिन पत्रकार सपना पाल के पिता की छुट्टी होने के कारण उनके बाहर निकलते ही सभी दबंग उन पर टूट पड़े और डंडा, सरिया, पाइप, से जानलेवा हमला कर घायल कर दिया गया और कहा आगे पत्रकार की बारी। अमावां से जिला अस्पताल रिफर के बाद चार दिन से ओम प्रकाश अस्पताल में भर्ती है और स्थानीय पुलिस ने उच्चाधिकारियों को इस घटना में गुमराह किया गया। खबर लिखे जाने के बाद पुलिस जागी, यही नही 24 घंटे बाद पुलिस पत्रकार का घर जाँचने गयी। इससे पूर्व भी दो बार पत्रकार से साथ ऐसी जानलेवा घटनाएं हो चुकी है। इस घटना में दो बार तहरीर बदलाई गयी,  कार्यवाही अभी तक नही हुई है। पूरी घटना से अवगत होने के बाद जिलाध्यक्ष के आश्वासन दिया कि कार्यवाही जरूर होगी, 1 नवंबर को होने वाली स्थाई समिति की बैठक में यह मुद्दा उठाया जायेगा। लेकिन डीएम के न रहने पर बैठक स्थगित हो गयी। इस मौके पर जिलाध्यक्ष सहित महामंत्री एसके सोनी व राकेश द्विवेदी, सदर अध्यक्ष अशोक कुमार सहित कई पदाधिकारी मौजूद रहे।

क्राईम संवाददाता 

अशोक कुमार की रिपोर्ट 


0
0
0
s2smodern
  1. Popular
  2. Trending