Login to your account

Username *
Password *
Remember Me

Create an account

Fields marked with an asterisk (*) are required.
Name *
Username *
Password *
Verify password *
Email *
Verify email *
Captcha *
Reload Captcha

अधेड की गला दबाकर हत्या , जांच मे पुलिस

एसके0 सोनी 

-मौके पर पहुंचे पुलिस अधीक्षक , लिया जायजा

रायबरेली । लालगंज कोतवाली के तहत पूरे अमृत मजरे कुम्हरौडा गांव मे गुरूवार की रात सोते समय एक व्यक्ति की गला दबाकर हत्या कर दी गयी है। बताया जाता है कि षेर बहादुर सिंह चैहान (45) पुत्र स्व0 रामबली सिंह एक कमरे की कालोनी मे अकेले रहते थे। बोरिंग मकैनिक का काम करके रोजी रोटी चलाते थे।शुक्रवार की सुबह शेर बहादुर सिंह के चारपाई पर मृत पाये जाने पर पूरे अमृत गांव मे हडकम्प मच गया। लोगों के द्वारा लालगंज पुलिस को सूचना दी गयी। मौके पर पहुंचे प्रभारी निरीक्षक रवेन्द्र सिंह ने पुलिस स्टाफ की मदद से मृतक शेर बहादुर सिंह के शव का पंचनामा कर पीएम के लिये जिला अस्पताल भेज दिया है। मृतक के चचेरे भाई जगत बहादुर सिंह निवासी बरगदहा थाना बिहार जिला उन्नाव की तहरीर पर अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा लालगंज कोतवाली मे दर्ज हुआ है। कोतवाल रवेन्द्र सिंह के द्वारा आसपास के लोगों को पूछताछ के लिये हिरासत मे लिया गया है। वहीं मर्डर जैसी घटना होने पर पुलिस अधीक्षक शिवहरि मीना,अपर पुलिस अधीक्षक शषि सेखर सिंह,सीओ चन्द्र देव यादव ने भी घटना स्थल का मुआयना कर हत्या किये जाने की घटना की बारीकी से जांच की है।पुलिस अधीक्षक से घटना के बाबत पूछे जाने पर उन्होने बताया कि पूरे अमृत गांव मे शेर बहादुर सिंह की गला दबाकर अज्ञात लोगों के द्वारा हत्या की गयी है। मुकदमा लिखकर विधिक कार्यवाही की जा रही है। हत्या किस कारण हुयी है,इस बाबत बारीकी से जांच की जा रही है। वहीं पुलिस अधीक्षक ने शेर बहादुर सिंह को सबसे पहले मृतक स्थिति मे देखने वाले पंची पासी से घटना स्थल पर गहन पूछताछ भी की है। जानकारी कके अनुसार मृतक शेर बहादुर कई वर्षो पहले एक दलित की हत्या के आरोप मे जेल भी जा चुका है।मृतक जुआडी व शराब का आदी बताया जाता है। गांव वाले दबी जुबान कह रहे थे कि गत दिनों शेर बहादुर ने कई हजार रूपया जुआं मे जीता था।कही रूपये के लालच मे तो किसी ने हत्या नही कर दी। यह तो जांच के बाद ही पता चलेगा लेकिन छोटे से पुरवा जैसे गांव मे हत्या जैसी जघन्य घटना होने से दहषत का आलम व्याप्त है। मृतक शेर बहादुर के चाचा व चचेरे भाई कुम्हरौडा व बरगदहा गांव के निवासी हो गये है,जिसके चलते मृतक शेर बहादुर पूरे अमृत गांव मे अकेले रहता था।जामा तलासी मे मोबाइल भी प्राप्त हुआ है।


0
0
0
s2smodern
  1. Popular
  2. Trending