Login to your account

Username *
Password *
Remember Me

Create an account

Fields marked with an asterisk (*) are required.
Name *
Username *
Password *
Verify password *
Email *
Verify email *
Captcha *
Reload Captcha

मुआवजे के लालच मे तो नही चली गोली? निष्पक्ष जांच की मांग

    एसके0 सोनी 
 
-आरोपित परिवार की महिला ने लगाई एसपी से गुहार, निष्पक्ष जांच की माँग
 
रायबरेली। बीते कुछ दिन पूर्व दर्शन पासी नामक युवक पर चलाई गई गोली का मामला आज पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचा जहां भाजपा जिला अध्यक्ष दिलीप यादव के नेतृत्व में आरोपित पक्ष की महिला महराजगंज के मोन गाँव निवासिनी बंदना सिंह ने पुलिस अधीक्षक से मिलकर घटना की निष्पक्ष जांच कराने की मांग की है। उन्होंने कहा कि गोली पूर्व नियोजित व षडयंत्र तरीके से झूठे मुकदमे मे  फंसाने के लिए चलाई गई है जबकि इस घटना से नामित किये गये उसके परिवार के लोगों का कोई लेना देना नहीं है। पीडिता ने पुलिस अधीक्षक को दिए गए पत्र में दर्शाया है कि गांव का ही प्रधान पति माताफेर सिंह जो थाने का हिस्ट्रीशीटर है जिसके खिलाफ अब तक हत्या समेत एक दर्जन से अधिक मामले दर्ज है इसकी अपराधिक प्रक्रिया 1979 से लगातार चल रहा है पीडिता के मुताबिक इसकी बात जो नही मानता उसे या तो मरवा देता है या फिर झंठे मुकदमे मे फंसा देता है यही नहीं माता फेर पर अब तक गांव के तमाम लोगों की जबरन जमीने भी हथियाने का आरोप है और पत्नी के प्रधानी के दौरान गांव में तमाम गरीब लोगों के राशन कार्डो में धांधली की  जिसकी सिकायत मेरे द्वारा संबंधित विभाग से की गई थी तथा धरने पर भी बैठा गया था परन्तु समाजवादी सरकार होने की वजह से इस पर कोई कार्यवाही नही हो सकी क्यो कि यह समाजवादी पार्टी का जिला सचिव रह चुका है वही रंजिश लेकर  प्रधान पति माता फेर सिंह दर्शन पासी को उकसाकर कर मेरी ही जमीन जो विवादित है जिसका मामला तहसील न्यायालय में विचाराधीन चल रहा है पर जबरन कॉलोनी बनवा रहा था जिसकी शिकायत उप जिलाधिकारी महराजगंज समेत  जिलाधिकारी से की गई थी मौके पर लेखपाल जांच करने भी गए थे परंतु माताफेर अपनी दबंगई पर उतारू था उसने किसी की नहीं सुनी और दर्शन पासी को कालोनी की लालच देकर कहा कि झूठा मुकदमा लिखवाने से हरजन एक्ट में सरकार  लाखों रुपए मुआवजा देती है जो तुम्हें मिलेगा और इसी षड्यंत्र के तहत जबरन मकान बनाने का कार्य शुरु कर दिया गया जिसका विरोध पीड़िता ने किया तो प्रधान पति का लड़का शैलेन्द्र सिंह मौके पर पहुंचकर मारपीट किया और छेड़खानी जैसी घटना को अंजाम दिया जिसकी लिखित शिकायत थाने में दी गई इसके पश्चात पुलिस ने  शैलेन्द्र सिंह पर 354 का मामला दर्ज किया इसी बदले को लेकर पुर्व नियोजित तरीके से दर्शन पासी पर गोली चलाई गई और नामित मेरे निर्दोष परिवार के लोगों को किया गया,पीडिता ने पुलिस अधीक्षक शिव हरि मीना से मांग की है कि इस पूर्ण घटना की निष्पक्ष जांच कराई जाए तथा उसके परिवार की रक्षा की जाए पीडिता के मुताबिक उसके परिवार को हिस्ट्रीशीटर माता फेर सिंह से जान माल का खतरा है इस पूरे मामले को लेकर पुलिस अधीक्षक ने भरोसा दिलाया है कि कोई भी निर्दोष जेल नहीं जाएगा पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कराई जाएगी जो भी दोषी होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जायेगी इस मौके पर भाजपा जिला अध्यक्ष दिलीप यादव संतोष गुप्ता आरबी सिंह समेत तमाम भाजपाई मौजूद रहे।
 
इन्सेट -
 
आरोपियो की गिरफ्तारी की मांग 
 
रायबरेली। पूर्व सपा सरकार मे  कोतवाली, तहसील,ब्लाक,मे घूसखोरी  व भ्रष्टाचार के तमाम आरोपो मे घिरे पूर्व सपा जिला सचिव माताफेर सिंह प्रधान पति  के खिलाफ पीडित बंदना सिंह समेत भाजपाइयो के  पुलिस अधीक्षक से सिकायत करने के बाद सपा पूर्व विधायक रामलाल अकेला माताफेर सिंह की बचाव मे उतर पडे़ है अब क्या सच क्या झूठ ये तो जांच का विषय है लेकिन मोन गांव निवासी दर्शन पासी पर चली गोली का मामला अब पेंचिदा हो गया है जहा एक तरफ रामलाल अकेला हिस्टीशीटर माता फेर का बचाव करते हुए दर्शन पासी पर गोली चलाने व नामजदो की गिरफ्तारी की मांग की तो वही माताफेर सिंह  प्रेस मंच से दूर रहे और मीडिया की सवालो से बचते दिखे वही मीडिया को संबोधित करते हुए विधायक रामलाल अकेला ने कहा कि पुलिस भाजपा की दबाव मे अारोपियों तक नही पहुंच पा रही है जब कि गोली बंदना सिंह भाजपा नेत्री के पति समेत अन्य लोगों ने चलाई है यही नही भले ही माताफेर मीडिया से दूर रहे हो लेकिन अकेला ने उनकी पूर्ण बचाव करते हुए कहा कि इनके जो भी मुकदमे है वह सब पुराने हैं जिस जमीन की चर्चा भाजपा नेत्री कर रही है वह जमीन दर्शन पासी की है जिसकी पैमाइश तहसील प्रशासन द्वारा किया जा चुका था वही दर्शन पासी की पत्नी अपने बच्चो के साथ मीडिया से रुबरु हूई हाला कि उसने घटना के बाबत ज्यादा कुछ नही बोल सकी लेकिन दबे जुबान उसने कहा कि उसके पति को गोली लगी है वह लखनऊ मे भर्ती है  सूत्रो के मुताबिक सपा सरकार के दौरान माता फेर पर गांव की ही ग्राम सभा की तमाम जमीन हथियाने की बात की जा रही है यही नही इसके पूर्व मोन गांव निवासी राम अधार जिसकी मौके पर मौत हो चुकी है समेत दयाराम नामक उमर दार युवक भी जबरन जमीन हथियाने का आरोप लगा चुके है आरोप था कि सपा शांसन काल का फायदा उठा कर माताफेर द्वारा तमाम जमीन कब्जा कर अपने चहेतो के हाथ विक्री कर दिया जिसका विरोध अधिक तर बंदना सिंह करती रही है  इस गोली कांड का तार दोनो परिवारो से जुडा़ है अब कौन सच कौन झूठ यह पुलिस तय करेगा फिलहाल रामलाल अकेला ने पुलिस प्रशासन को एक हफ्ते की चेतावनी दे दी है कि अगर आरोपियो की गिरफ्तारी नही हुई तो एक हफ्ते बाद वह जिला पुलिस मुख्यालय पर पुलिस के विरुद्ध धरने पर बैठैगे।

0
0
0
s2smodern
  1. Popular
  2. Trending