Login to your account

Username *
Password *
Remember Me

Create an account

Fields marked with an asterisk (*) are required.
Name *
Username *
Password *
Verify password *
Email *
Verify email *
Captcha *
Reload Captcha

परिवहन विभाग की बसे न चलने से मजबूर होकर डग्गामार वाहनो मे अधिक भाड़ा देकर सफर करते है क्षेत्र के नागरिक

खीरों रायबरेली | ब्लॉक मुख्यालय से रायबरेली जाने के लिए परिवहन विभाग की मात्र एक बस अतरहर रायबरेली जनता बस सेवा के नाम से चलायी जा रही है | काफी समय से यह जर्जर बस क्षेत्र के नागरिकों को रायबरेली ले जाने और वापस लाने का काम करती आ रही है | काफी पुरानी होने के कारण अक्सर खराब हो जाने के कारण वापसी नहीं हो पाती जिससे यात्री असमंजस मे पड़कर डग्गामार वाहनो मे सफर करना उनकी मजबूरी हो जाती है | इसी प्रकार क्षेत्र के नागरिकों को लखनऊ जाने के लिए मात्र एक बस सरेनी-लखनऊ बस  सेवा है | लखनऊ जाने वाले यात्री बहुत कम समय मिलने के कारण या तो उनको लखनऊ मे रात्रि निवास करना पड़ता है या फिर आधे अधूरे काम कर वापस लौटना उनकी मजबूरी है | खीरों से वाया मौरवा-लखनऊ की दूरी मात्र 70 किलोमीटर है | जबकि खीरों से वाया गुरबक्शगंज-लखनऊ की दूरी लगभग 120 किलोमीटर है | ऐसे मे यदि खीरों-मौरवा-लखनऊ परिवहन जनता बस सेवा का संचालन कर दिया जाए तो क्षेत्र के नागरिको को काफी लाभ मिल सकता है | तथा खीरों से रायबरेली परिवहन विभाग की एक और बस चला दी जाये तो जहां यात्रियो को डग्गामार वाहनो मे भूसे की तरह भरकर और अधिक भाड़ा देने से निजात मिलेगी वही विभाग को राजस्व का लाभ भी मिल सकेगा |


0
0
0
s2smodern
  1. Popular
  2. Trending