Login to your account

Username *
Password *
Remember Me

Create an account

Fields marked with an asterisk (*) are required.
Name *
Username *
Password *
Verify password *
Email *
Verify email *
Captcha *
Reload Captcha

सिर पर गोली लगी, बेहोश हुए...फिर होश में आते ही आतंकियों पर टूट पड़े ऋषि

नयी दिल्ली:-

कश्मीर के कुपवाड़ा जिले के पंजगाम में गुरुवार तड़के सेना के कैंप पर भारी हथियारों से लैस तीन आतंकवादियों ने घात लगाकर हमला कर दिया था। इस हमले में सेना के तीन जवान शहीद हो गए थे। लेकिन इस हमले के बाद सेना के जवान ऋषि कुमार ने पलटवार करते हुए दो आतंकियों मार गिराया। जब आतंकी शिविर पर हमला करने की नापाक मंसूबों के साथ आगे बढ़ रहे थे तो उस वक्त ऋषि कुमार अपनी ड्यूटी पर तैनात थे।

फील्ड आर्टिलरी रेजिमेंट के गनर ऋषि कुमार की पैनी नजर आतंकियों पर थी। जैसे ही आतंकी उनके करीब पहुंचे तो बिना देरी के ऋषि कुमार आतंकियों पर टूट पड़े। ऋषि की बंदूक की गोलियां आतंकियों के ऊपर काल बनकर बरसने लगी। आतंकियों ने ऋषि को अपना निशाना बनाया और एक गोली उनके सिर पर जा लगी, चूंकि ऋषि बुलेट प्रूफ हेलमेट पहने हुए थे, इसलिए बेहोश तो हुए लेकिन उनकी जान बच गई।
लेकिन जैसे ऋषि को होश आया वह फिर से आतंकियों पर मौत बनकर टूट पड़े। इस हमले में ऋषि ने दो आतंकियों को मौत के घाट उतार दिया था। लेकिन तीसरा आतंकी ऋषि कुमार पीछे हमला कर उसे घायल कर फरार हो गया। बिहार के आरा में रहने वाले ऋषि कुमार 8 साल से आर्टिलरी रेजिमेंट के गनर के तौर पर भारतीय सेना में अपनी सेवा दे रहे हैं। ऋषि ने जिस बहादुरी का परिचय दिया उसे आज पूरा भारत सलाम कर रहा है।
कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में भारी हथियारों से लैस तीन आतंकवादियों ने एक सैन्य शिविर पर गुरूवार पर हमला किया। सेना ने जवाबी कार्रवाई की और 35 मिनट तक चली भीषण मुठभेड़ में दो आतंकवादियों को मार गिराया गया, लेकिन हमले में एक कैप्टन समेत तीन सैनिक भी शहीद हो गए। मारे गए आतंकवादियों के पास तीन एके राइफल, नौ मैगजीन, एके की 156 गोलियां, एक चीनी पिस्तौल, तीन यूबीजीएल गोले, तीन हथगोले, दो रेडियो सेट, जो जीपीएस उपकरण और एक स्मार्टफोन बरामद किया है।
मुठभेड़ खत्म होने के तुरंत बाद स्थानीय लोगों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया और मारे गए आतंकवादियों का शव मांगने लगे ताकि उनका अंतिम संस्कार कर सकें। बुजुर्गों और महिलाओं सहित प्रदर्शनकारियों ने अपना प्रदर्शन जारी रखा, लेकिन सेना उनकी मांग के आगे नहीं झुकी।
वहीं पथराव कर रही भीड़ और सुरक्षाबलों के बीच हुई झड़प में मोहम्मद युसुफ बट को सीने में गोली लगी। उसे अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। वहीं अब स्थानीय लोगों का आरोप है कि वह सुरक्षा बलों की गोलीबारी में मरा है।


0
0
0
s2smodern
  1. Popular
  2. Trending