Login to your account

Username *
Password *
Remember Me

Create an account

Fields marked with an asterisk (*) are required.
Name *
Username *
Password *
Verify password *
Email *
Verify email *
Captcha *
Reload Captcha

नहरों में पानी न आने से किसान परेसान

रायबरेली। किसानों की मसीहा कही जाने वाली प्रदेश सरकार ने नहरो में पानी तो छोडवा दिया। ताकि किसानों को गेहूं की सिचाई में पानी की समस्या न रहे। बावजूद महराजगंज क्षेत्र में एक माइनर ऐसी भी है कि उसमें लगभग 15 वर्षो से पानी नही आया है क्षेत्र के किसानो ने लाख प्रयास किया। लेकिन समस्या तो आलाधिकारियों ने सुन ली लेकिन शिकायती पत्र को कूडे के डब्बे में डाल दिया। जिसका नतीजा आज भी इस क्षेत्र के किसान नहर की एक-एक बूंद पानी को तरस रहे है। और हजारो बीघे गेहूं की सिचाई करने के लिये किसान दर-दर भटक रहे है। बात हो रही है सारीपुर माइनर की शाखा जो कि कलन्दरगंज से सडकहा, अजीजगंज, सेनुपर, पूरे सहामत, पूरे जमादार, पूरे सिंघई मजरे बावन बुजुर्ग बल्ला के किसानो की खेती सिंचाई का मात्र एक ही जरिया है। और अगर कोई प्राइवेट साधन है भी तो इतनी मनमानी तरीके से सिंचाई वसूली जाती है कि किसान के खेत में जितना पैदा होता है वह सब सिंचाई देना पड जाता है इसी लिए किसान अपने खेत की सिचाई नही कर पाता। जब कि नहर लगभग 15 वर्षो से सूखी पडी है इन गांवो के किसानो ने सैकडो बार उपजिलाधिकारी से लेकर जिलाधिकारी एंव मुख्यमंत्री तक से नहर मे पानी न आने की समस्या को लेकर शिकायत कर चुके है लेकिन इन किसानो का दर्द किसी आलाधिकारी ने नही सुनी। हाल ही में रही पूर्व की सरकार ने किसानो की फसल सिंचाई के लिए नहर का पानी फ्री कर दिया था लेकिन इन गांवो के किसानो ने कई बार क्षेत्रीय विधायक से लेकर मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर अपनी समस्या सुनाई की सिंचाई का पैसा सरकार किसानो से वसूल ले लेकिन नहर में पानी तो भेजवा दे। लेकिन कोई उत्तर नही आया और न ही पानी आया। किसानो का कहना है कि 15 वर्षो से आज तक नहर की सफाई भी नही हुई। और नहर पूरी तरह से पट गई है कुछ किसानो का कहना है सरकार से सफाई के लिए पैसा आता है लेकिन कागजो पर सफाई दिखा कर सरकार के पैसे का बंदर बांट कर लिया जाता है। क्षेत्र के किसान राधेश्याम, जगन्नाथ, बाबूलाल, जगदीश, राज बहाुदर, महराजदीन, शोभनाथ, रामलाल, राम प्रकाश, टिलई, राजेश, किशुन, राम भरोसे, रमेश आदि किसानों से बात की गई तो फूट-फूट कर रोने लगे और कहने लगे कि लगभग 15 वर्षो से हमारी सारी खेती बंजर बनी जा रही है नहर में पानी नही आने की शिकायत हम किसानो ने सैकडो बार डीएम से लेकर मुख्यमंत्री तक से शिकायत कर चुके है लेकिन हम लोगो की समस्या कोई सुनने को तैयार नही है। इसी लिए अब हम लोग कहां जांए और किससे करे शिकायत हम किसानो की कही नही सुनी जाएगी। सैकडो बार शिकायत कर चुके है जब 15 वर्षो से सफाई तक नही हुई जिसके कारण पूरी नहर पट चुकी है। तो अब कौन सुनेगा हम किसानो की आवाज। इसी लिए हम किसान जैसे तैसे जीवन यापन कर रहे है।


0
0
0
s2smodern
  1. Popular
  2. Trending