Login to your account

Username *
Password *
Remember Me

Create an account

Fields marked with an asterisk (*) are required.
Name *
Username *
Password *
Verify password *
Email *
Verify email *
Captcha *
Reload Captcha

नाग पंचमी का त्योहार पर खुशी तो मेले व दंगल रहे फीके

सद्दीक खान 

रायबरेली । नाग पंचमी का त्योहार शहर से लेकर गाँव तक बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया गया। जगह-जगह मेले व दंगल का आयोजन किया गया, शहर क्षेत्र के जहानाबाद पर मेले का आयोजन किया गया जिस पर देर शाम बुराई के प्रति गुड़ियों को पीटकर लोगों नें त्योहार को जश्न के साथ मनाया इधर रोड पर मेले के आयोजन से लोग घंटो जाम मे फसे रहे जाम को हटाने मे पुलिस का एक भी नुमाइंदा नहीं दिखाई पड़ा ,  मंहगाई के चलते बाजारों में सन्नाटा छाया रहा, गत वर्शों की तुलना में इस बार हरी चूड़ियों की बिक्री भी कम रही, लोगों ने जैसे तैसे अपनी खुषियों को अंजाम दिया। ग्रामीण क्षेत्रों में भी बढ़ते विज्ञान, व राजनैतिक विद्वैष की झलक साफ दिखायी पड़ी। प्रत्येक गांव में पड़ने वाले झूले भी इस बार नहीं दिखायी पड़े ना ही ग्रामीण महिलाओं द्वारा मधुर स्वर में गाये जानें वाले कजरी गीत विलुप्त रहे। वास्तव में बढ़ती वैज्ञानिक स्पर्धा के चलते कुओं से सिचााई करनें की प्रथा समाप्त हो गयी इस सिचाईं में प्रयुक्त होने वाले मोटे-मोटे रस्से जो कभी झूले ड़ालने के काम आते थे नश्ट प्रायः हो गये। राजैनिक नेताओं द्वारा फैलायी जाने वाली जातीय द्वैष के चलते ना सामूहिक रूप से छुआ-छूत को दरकिनार इन झूलों पर बैठकर कोकिल स्वर में कजरी गानें वाली महिलाएं रह गयी और नाही झूले को पींगे मारनें वाले कड़ियल जवान ही रह गये। जातीय विद्वैष की आंधी नें इस त्यौहार के पारस्परिक त्यौहार निगल सा लिया है। कुल मिलाकर अन्य त्यौहारों की तरह यह त्यौहार भी औपचारिकता मात्र बनकर रह गया है।

इन्सेट - 

 विद्यालयों में भगवान शिव की पूजा अर्चना

रायबरेली । नाग पंचमी के अवसर पर क्षेत्र के विद्यालयों में बच्चों ने अपनी अपनी प्रतिभा के माध्यम व भगवान शिव की पूजा अर्चना कर मनाया। महावीर स्टडी इस्टेट इण्टर कालेज महराजगंज में मध्यावकाश के बाद कालेज में बच्चों की अन्त्याक्षरी एवं गहन प्रश्नोंत्तरी प्रतियोगिता शुरू की गयी। जिसमें बच्चों ने कविता, छंद, सवैया, दोहा, गीत एवं फिल्मी गाने का प्रयोग तथा प्रष्नोत्तरी में समसामयिक विषयों एवं विषय वस्तु की गहनता तथा आज के पावन त्योहार के विषय में प्रष्नोत्तरी द्वारा चर्चा की गयी। जिसमें बच्चों ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया। प्रथम द्वितीय एवं तृतीय जुबेदा, अक्षरा, आलोक, संदीप, रूबा, दषवंत, आनंदराज, गौरव, प्रियंका, जैनब, आयुष, अनामिका, आदर्ष कुलषुम, शैलेन्द्र,पलक, रिया, अक्षत, सुलोचनी, सर्वेष रामेंद्र, कीर्ति, आकृति, षुभम, अंकुर, षिवांगी, देवा, स्नेहा, यषी, आजाद, अंषिका, आदित्य, तनिश्का, आनंद, आकांक्षा रहे। बच्चों को माननीय मैनेजर श्री अवधेष बहादुर सिंह जी ने पुरस्कृत किया। इस अवसर पर प्रधानाचार्य श्री कमल बाजपेई ने सभी बच्चों को बधाई दी।


0
0
0
s2smodern
  1. Popular
  2. Trending